Skip to content

व्हाइट हाउस में मनी सबसे बड़ी दिवाली, बाइडेन बोले- रोशनी की ताकत दिखाता है यह पर्व

व्हाइट हाउस के ऐतिहासिक ईस्ट रूम में आयोजित दिवाली रिसेप्शन में भारतीय मूल के लोग पारंपरिक भारतीय परिधानों में दिखे तो महिलाएं साड़ी और लहंगे में नजर आईं। पारंपरिक भारतीय व्यंजन परोसे गए। 200 से अधिक प्रख्यात भारतीय अमेरिकियों ने इस समारोह में भाग लिया।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और देश की प्रथम महिला नागरिक डॉ. जिल बाइडन की ओर से सोमवार रात व्हाइट हाउस में अब तक का सबसे बड़ा दिवाली रिसेप्शन दिया गया। 200 से अधिक प्रख्यात भारतीय अमेरिकियों ने इस समारोह में भाग लिया। पीपल्स हाउस में इस तरह के भोज की मेजबानी की परंपरा जॉर्ज बुश प्रशासन के समय से चली आ रही है।

इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि दिवाली हमें याद दिलाती है कि हममें से प्रत्येक के पास दुनिया में रोशनी लाने की ताकत है। यह एक विकल्प है और हम इसे रोज चुनते हैं चाहे यहां अमेरिका में हों या भारत में जो आज़ादी का 75वां साल मना रहा है। उन्होंने कहा कि आपकी मेजबानी करके हम सम्मानित महसूस कर रहे हैं। व्हाइट हाउस में इतने बड़े पैमाने पर आयोजित होने वाला यह पहला दिवाली रिसेप्शन है। अमेरिका में इस वक्त जितने एशियाई अमेरिकी हैं उतने पहले कभी नहीं रहे। हम दिवाली उत्सव को अमेरिकी संस्कृति की खुशी का हिस्सा बनाने के लिए आपको धन्यवाद देना चाहते हैं।

यह समारोह ईस्ट रूम में आयोजित किया गया। ईस्ट रूम भारत और अमेरिका के बीच अनेक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक आयोजनों का गवाह रहा है। यहीं पर भारत और अमेरिका के बीच परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर हुए थे। यहीं से नवंबर 2008 में अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा और भारत के तत्कालीनी प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने संयुक्त प्रेसवार्ता को संबोधित भी किया था।

This post is for paying subscribers only

Subscribe

Already have an account? Log in